फेसबुक पर लिखा चेतावनी भरा शब्द और फिर फांसी लगाकर बीजेपी नेत्री ने की खुदकुशी


बांदा। पूर्व डीआईजी राज बहादुर सिंह की बहू और भाजपा की जिपं सदस्य श्वेता सिंह ने बुधवार को फांसी लगाकर जान दे दी। पति से विवाद के बाद मंगलवार को फेसबुक पर घायल नागिन, शेरनी और अपमानित स्त्री से हमेशा डरना चाहिए, की पोस्ट डाली थी। घटना के बाद से पति फरार है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।
शहर कोतवाली के इंदिरानगर निवासी भाजपा नेता दीपक सिंह गौर की पत्नी श्वेता सिंह गौर जसपुरा के वार्ड-12 से जिला पंचायत सदस्य थीं। दोपहर 12 बजे पुलिस को श्वेता सिंह के फांसी लगाने की सूचना मिली। एसपी अभिनंदन, एएसपी लक्ष्मी निवास मिश्रा, शहर कोतवाल राजेंद्र सिंह रजावत पहुंचे। फॉरेंसिक और डॉग स्क्वायड को बुलाया गया। अंदर से बंद कमरे में शव पंखे के सहारे फंदे से लटका था। कमरे की कुंडी तोड़कर शव फंदे से उतारा गया।
जांच-पड़ताल के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। एसपी ने बताया कि दपंति में कई दिन से विवाद चल रहा था। मायका और ससुराल पक्ष में पंचायत होने की बात भी सामने आई है। मंगलवार शाम भी दंपति में विवाद हुआ था। पति की तलाश की जा रही है। शाम पांच बजे तक मामले में कोई तहरीर नहीं मिली थी। पोस्टमार्टम में मौत की वजह स्पष्ट होने और तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
श्वेता सिंह गौर ने मंगलवार शाम सात बजे सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक पर पोस्ट डाली थी। लिखा था कि घायल नागिन, शेरनी और अपमानित स्त्री से हमेशा डरना चाहिए। पोस्ट पर कमेंट्स में कुछ ने तारीफ की तो कुछ ने पोस्ट की वजह भी पूछी। बुधवार को श्वेता की मौत की बात सामने आने पर फालो करने वाले चकित रह गए

Facebook Comments Box

Leave a Reply